May 24, 2024

Turban competition-जमशेदपुर के सिख बच्चे और नौजवानों ने रंग बिरंगी दस्तार सजाये,know more about it.

1 min read
Spread the love

Turban competition

daily dose news

25/02/2024/sun

पग्ग बन्नी ते प्राउड बड़ा हुँदा सिर उत्ते ताज्जां वालेया …..

बलप्रीत और समरप्रीत ने दस्तार, अर्जुन सिंह ने जीता दुमाला मुकाबला

वट्टांवाली, पटियालाशाही और मोरनी तरीके की सुंदर दस्तार सजा युवकों ने दिल जीता

जमशेदपुर के सिख बच्चे और युवा रंग बिरंगी दस्तार सजाये जमशेदपुर में ही पंजाब होने का अहसास करा रहे थे, मौका था दस्तार मुकाबला का जिसका आयोजन रविवार को सन्नी भांगड़ा ग्रुप और रॉयल डेकॉर के संयुक्त तत्वाधान में साकची गुरुद्वारा परिसर में किया गया।

ਇਹ ਖਬਰ ਤੁਸੀਂ ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸਾਕਚੀ, ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸੋਨਾਰੀ, ਦੁਪਟਾ ਸਾਗਰ ਬਿਸਟੁਪੁਰ ਨਾਗੀ ਮੋਬਾਈਲ ਕਮਯੁਨੀਕੇਸੰਸ ਦੇ ਸਹਾਇਤਾ ਨਾਲ ਪਾ੍ਪਤ ਕਰ ਰਹੇ ਹੋ ਜੀ।

Turban competition

बलप्रीत सिंह सीनियर और समरप्रीत सिंह जूनियर ग्रुप में विजेता घोषित किये गए जबकि अर्जुन सिंह ने दुमाला मुकाबला जीतने का गौरव हासिल किया। रविवार को साकची गुरुद्वारा के प्रांगण में आयोजित दस्तार सजाओ मुकाबला में 235 उत्साहित बच्चों ने पूरी लगन और एकाग्रता के साथ भाग लिया।

ये समाचार आप गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी साक्ची, गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी सोनारी, दुपट्टा सागर बिस्टुपुर, नागी मोबाइल कम्यूनिकेशन्स के सहायता से प्राप्त कर रहे हैं।

https://t.me/dailydosenews247jamshedpur

Turban competition

दस्तार कोच जसवंत सिंह जस्सू, मंजीत सिंह, मनप्रीत सिंह, अमृतपाल सिंह, सतविंदर सिंह, गुरदयाल सिंह और गगनदीप सिंह (दुमाला) के जज के रूप उपस्थित होकर तकनिकी आधार पर प्रतिभागियों को कसौटी पर परखा। दस्तार मुकाबला में विजेताओं के अलावा सभी प्रतिभागी बच्चों को सम्मानित किया गया।

ਨੋਟ:- ਡੇਲੀ ਡੋਜ ਨੀਉਜ ੨੪×੭ ਸਿਖ ਇਤਿਹਾਸ ਦੇ ਬਾਰੇ ਉਨ੍ਹਾਂ ਲੋਕਾਂ ਨੂੰ ਹਿੰਦੀ ਭਾਸ਼ਾ ਵਿੱਚ ਦਸਣਾ ਚਾਹੰਦੀ ਹੈ। ਜੇੜੇ ਪੰਜਾਬੀ ਨਹੀਂ ਸਮਝ ਸਕਦੇ। ਜੇ ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀਆਂ ਸਾਡੇ ਇਸ ਉਪਰਾਲੇ ਵਿੱਚ ਜੁੜਨ ਤੇ ਅਸੀਂ ਗੈਰ ਸਿਖ ਨੂੰ ਆਪਣੇ ਮੀਡਿਆ ਰਾਹੀਂ ਇਤਿਹਾਸ ਬਾਰੇ ਜਾਨਕਾਰੀ ਦੇ ਕੇ ਸਿਖ ਪ੍ਤੀ ਉਨ੍ਹਾਂ ਦਾ ਨਜਰਿਆ ਬਦਲ ਸਕਦੇ ਹਾਂ।
ਨਹੀਂ ਤਾਂ ਉਹ ਲੋਕ ਸਿਖ ਨੂੰ ਸਿਰਫ਼ ਲੰਗਰਾਂ ਵਾਲੀ ਕੋਮ ਸਮਝਦੇ ਹਨ। ਅਸਲ ਵਿੱਚ ਸਿਖ ਪੰਥ ਦੀ ਕੀ ਮਹਾਨਤਮ ਹੈ ਨਹੀਂ ਜਾਣਦੇ ਹਨ।
੮੨੨੯੦੪੭੬੮੮
8229047688

साकची गुरुद्वारा के प्रधान निशान सिंह ने कहा कि सिख धर्म में दस्तार की विशेष महानता है व दस्तार एक अच्छे किरदार का चिन्ह भी है। दस्तार सजाना सिखी में परिपक्व होने की निशानी हीं नहीं, बल्कि ये दस्तार धारकों के आत्म विश्वास में भी बढ़ोतरी करती है। महासचिव परमजीत सिंह काले, सन्नी भांगड़ा ग्रुप के परमजीत सिंह सन्नी और रॉयल डेकॉर के जसबीर सिंह गिल ने कहा, ऐसे आयोजन मुख्य उद्देश्य दस्तार से दूर हो रहे समाज व नौजवानों को दस्तार सजाने के लिए प्रेरित करना है और समय समय पर और भी कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे है।

turban competition

मंच का संचालन परमजीत सिंह काले ने किया। इस अवसर पर सिख समाज के कई गणमान्य व्यक्ति ने हाजरी भर प्रतिभागियों के मनोबल ऊंचा किया जिनमे मुख्यरूप से तख्त श्री पटना साहिब के महासचिव सरदार इंदरजीत सिंह, सीजीपीसी के चेयरमैन सरदार शैलेन्द्र सिंह, तारा सिंह, गुरदयाल सिंह, हरविंदर सिंह मंटू, सुखविंदर सिंह, सुरजीत सिंह, स्त्री सत्संग सभा की प्रधान बीबी रविंदर कौर, कमलजीत कौर, कमलजीत कौर गिल, दलजीत सिंह दल्ली, अजीत सिंह गंभीर, सतबीर सिंह गोल्डू, हरविंदर सिंह समेत विभिन्न गुरुद्वारों के प्रतिनिधियों ने शिरकत कर प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया। उपरांत आयोजन समिति ने सभी अतिथियों का सम्मान किया।
मुकाबला कार्यक्रम को सफल बनाने में मुख्य रूप से सन्नी भांगड़ा ग्रुप की टीम समेत सुखवंत सिंह सुखु, बलबीर सिंह, दलजीत सिंह, जसबीर सिंह गाँधी, मनोहर सिंह मितै, का सराहनीय सहयोग रहा.
मुकाबला कार्यक्रम का नतीजा
दस्तार प्रतियोगिता (सीनियर): 1 बलप्रीत सिंह, 2 जसबीर सिंह, 3 अमरजीत सिंह।
दस्तार प्रतियोगिता (जूनियर): 1 समरप्रीत सिंह, 2 मनकीरत सिंह, 3 हर्षप्रीत सिंह।
दुमाला प्रतियोगिता (स्वतंत्र): 1 अर्जुन सिंह, 2 सरनदीप सिंह, 3 जगरूप सिंह, 4 सिमरन कौर।

Turban competition

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *