parkash parv-प्रकाश पर्व पर नगरकीर्तन में होगा महिला सशक्तिकरण का बोलबाला,know more about it.

1 min read
Spread the love

parkash parv

20 स्कूल और 32 स्त्री सत्संग सभाओं को कतार क्रम संख्या आवंटित

jamshedpur/3/nov/23/ 27 नवंबर को सिखों के प्रथम गुरु श्री गुरु नानक देव जी के 554वें प्रकाशपर्व के मौके पर बिष्टुपुर जी टाउन गुरुद्वारा से निकलने वाले नगरकीर्तन में महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने लिए सीजीपीसी एक नया प्रयोग करने जा रही है। जिसके तहत जमशेदपुर के इतिहास में पहली बार पालकी सहिब के पीछे रस्से की सेवा इस दफा अमृतधारी सिख बीबियां करेंगी।


शुक्रवार को सेंट्रल गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी (सीजीपीसी) के प्रधान सरदार भगवान सिंह ने बताया है कि इस बार अमृतधारी सिख बीबीयां पालकी साहिब के पीछे संगत को कतारबद्ध रखने के लिए रस्से की सेवा करेंगी। यह निर्णय महिला सशक्तिकरण को प्रदर्शित करने तथा महिलाओं की धार्मिक समागमों के प्रति और अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के लिया गया है। उन्होंने कहा की उक्त सेवा करने की इच्छुक बीबियां सीजीपीसी कार्यालय में संपर्क कर सकती है, शर्त यही है कि उनका अमृतधारी होना अनिवार्य है।

इधर सीजीपीसी के महासचिव अमरजीत सिंह ने बताया कि शोभायात्रा के लिए तैयारियां जोर-शोर से चल रहीं हैं जिसका रूट मैप जल्द ही संगत के साथ साझा किया जायेगा। बहरहाल, नगरकीर्तन 27 नवंबर को बिष्टुपुर गुरुद्वारा साहिब से ठीक ग्यारह बजे साकची गुरुद्वारा साहिब के लिए तय मार्ग से गुजरेगा जिसकी अगुवाई दो घुड़सवार करेंगे।

parkash parv

अमरजीत सिंह ने बताया कि विभिन्न जत्थे, धार्मिक सस्थाएं अपनी टीमों के साथ नगरकीर्तन की शोभा बढ़ायेंगे। इस बार 20 स्कूलों के छात्र-छात्राएं, शिक्षक-शिक्षकायें शोभायात्रा में शामिल होंगे हालांकि विभिन्न धार्मिक विद्यालय के जुड़ने से यह संख्या बढ़ने की संभावना है। 32 स्त्री सत्संग सभाओं की बीबीयां भी नगरकीर्तन में गुरबाणी-कीर्तन करती हुई गुरु महाराज जी का जन्म दिहाड़ा मनायेंगी।
अमरजीत सिंह ने बताया की सीजीपीसी की पिछली बैठक में सभी स्कूलों और 32 स्त्री सत्संग सभाओं को कतारबद्ध होने के लिए क्रमवार संख्याएँ आवंटित कर दी गयीं थी। जिसके आधार पर गुरमत प्रचार सेंटर स्कूलों की वर्ग में प्रथम स्थान पर रहेंगी जबकिस्त्री सत्संग सभाओं में साकची का जत्था क्रमवार पहले स्थान पर रहेगा।

यह अंक आवंटन लॉटरी द्वारा नियोजित किया गया था। भगवान सिंह और अमरजीत सिंह ने यह भी साझा किया कि नगरकीर्तन को और अधिक भव्य बनाने के लिए कोल्हान की सिख संगत के सुझाव का वे स्वागत करते हैं, लागू करने योग्य सुझाव को कार्यान्वित करने में सीजीपीसी को हर्ष महसूस करेगी।

लॉटरी द्वारा कतारबद्ध होने के लिए नाम इस प्रकार हैं – (स्कूल): 1 गुरमत प्रचार सेंटर, 2 सोनारी, 3 बिष्टुपुर, 4 टेल्को, 5 साकची, 6 गौरी शंकर रोड (जुगसलाई), 7 मानगो, 8 बर्मामाइंस, 9 नामदा बस्ती, 10 स्टेशन रोड (जुगसलाई), 11 टुइलाडुंगरी, 12 न्यू बारीडीह, 13 कीताडीह, 14 मनीफिट, 15 बारीडीह, 16 सुंदरनगर, 17 रिफ्यूजी कॉलोनी, 18 टिनप्लेट, 19 गोलपहाड़ी, 20 सरजामदा।

(स्त्री सत्संग सभा): 1 साकची, 2 सरजामदा, 3 संत कुटिया, 4 बिरसानगर, 5 गौरी शंकर रोड (जुगसलाई), 6 टुइलाडुंगरी, 7 कदमा, 8 सीतारामडेरा, 9 घाटशिला, 10 रामदासभट्टा, 11 बर्मामाइंस, 12 नामदा बस्ती, 13 सोनारी, 14 आनंद विहार 15 स्टेशन रोड (जुगसलाई), 16 बारीडीह, 17 इंद्रानगर, 18 घाटशिला, 19 ह्युमपाइप, 20 बिष्टुपुर, 21 बागबेड़ा, 22 आजादबस्ती, 23 रिफ्यूजी कॉलोनी, 24 टिनप्लेट, 25 कीताडीह, 26 मानगो, 27 गोलपहाड़ी, 28 मनीफिट, 29 शिव सिंह, 30 प्रकाशनगर, 31 सुंदरनगर, 32 टेल्को।Daily Dose News 24/7

Read This Also

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *