June 25, 2024

Veer Bal Diwas-वीर बाल दिवस के आयोजन से पूरी दुनिया के सिख खुश, know more about it

1 min read
Spread the love

Veer Bal Diwas

वीर बाल दिवस के आयोजन से पूरी दुनिया के सिख खुश, पीएम मोदी को लेकर कही ये बात

कनाडा से हमदर्द मीडिया ग्रुप के संस्थापक और एमडी अमर सिंह भुल्लर ने भी पूरे सिख समुदाय की तरफ से पीएम मोदी को धन्यवाद दिया और उनके इस कदम की तारीफ की। 

पीएम मोदी ने गुरु गोविंद सिंह के दो बेटों की शहादत की याद में 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में मनाने का एलान किया था। जिसके बाद वीर बाल दिवस के अवसर पर सरकार के स्तर पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित हुए कार्यक्रम में पीएम मोदी भी शामिल हुए। अब इसे लेकर पूरी दुनिया के सिख समुदाय ने खुशी जाहिर की है और पीएम मोदी के इस कदम की सराहना की। 

Veer Bal Diwas

अमेरिका में सिख समुदाय के जसपाल सिंह ने खुशी जताते हुए कहा कि ‘हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वीर बाल दिवस मनाने के लिए धन्यवाद देना चाहते हैं। उन्होंने एक ऐतिहासिक कदम उठाया है।’ इंडियन माइनॉरिटीज फाउंडेशन के संयोजक सतनाम सिंह संधू ने ब्रुकफील्ड के गुरुद्वारा साहिब में वीर बाल दिवस मनाते हुए कहा कि पीएम मोदी के इस कदम से लोगों को सिख इतिहास के बारे में ज्यादा जानकारी होगी। कनाडा से हमदर्द मीडिया ग्रुप के संस्थापक और एमडी अमर सिंह भुल्लर ने भी पूरे सिख समुदाय की तरफ से पीएम मोदी को धन्यवाद दिया और उनके इस कदम की तारीफ की। 

Veer Bal Diwas

इसी तरह अमेरिका के बिजनेसमैन दर्शन सिंह धालीवाल ने कहा कि पीएम मोदी ने सिख समुदाय के लिए बहुत कुछ किया है। उन्होंने लंगर से भी जीएसटी हटाया है। दुनिया के विभिन्न हिस्सों में स्थित गुरुद्वारों में आज वीर बाल दिवस मनाया गया। इनमें दुबई, न्यूजीलैंड, ग्रीस आदि जगहों पर भी गुरुद्वारों में वीर बाल दिवस मनाया गया और साहिबजादों की शहादत को याद किया गया। 

बीते साल पीएम मोदी ने किया था एलान
बता दें कि साल 1705 में गुरु गोविंद सिंह के दो बेटों साहिबजादा जोरावर सिंह और साहिबजादा फतेह सिंह ने महज नौ साल और छह साल की उम्र में सिख धर्म के सम्मान में सर्वोच्च बलिदान दिया था। बीते साल 9 जनवरी को गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व के अवसर पर पीएम मोदी ने 26 दिसंबर को साहिबजादों की शहादत के सम्मान में वीर बाल दिवस के रूप में मनाने का एलान किया था।

[content source by: amar ujala]

Read This Also 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *