May 30, 2024

Sirjanhari-महिलाओं को समर्पित “सिरजनहारी” अलौकिक कीर्तन दरबार रविवार को, know more about it.

1 min read
Spread the love

Sirjanhari

daily dose news

साकची गुरुद्वारा के पूर्ण वातानुकूलित प्रांगण में रविवार को महिलाओं को समर्पित एकदिवसीय अलौकिक कीर्तन और गुरमत विचार एवं कथा समागम “सिरजनहारी” में बीबियों द्वारा प्रस्तुत किये जाने वाले कीर्तन दरबार में संगत गुरबाणी से जुड़ वाहेगुरु का गुणगान करेगी।

ये समाचार आप गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी साक्ची, गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी सीतारामडेरा,गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी सोनारी, दुपट्टा सागर बिस्टुपुर, नागी मोबाइल कम्यूनिकेशन्स के सहायता से प्राप्त कर रहे हैं।


इस अनोखे कीर्तन दरबार को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गयीं हैं। कीर्तन दरबार की आकर्षण यह है कि इसमें केवल और केवल सिख बीबियां ही गुरबाणी द्वारा गुरु महाराज जी की महिमा का वंदन करेंगी। जिसमें मुख्यरूप से पंजाब के मोगा से बीबी हरप्रीत कौर ‘वाहेनूर’ और पश्चिम बंगाल के परबेलिया से बीबी प्रभजोत कौर संगत के साथ शब्द गुरु श्री गुरु ग्रन्थ साहिब की अमर बाणी अनुसार गुरमत विचार साझा करेंगी जबकि लुधियाना से बीबी अमनदीप कौर, धनबाद से अमित कौर और जमशेदपुर की बीबी रविंदर कौर तथा बीबी गुरमीत कौर अपने मधुर गुरबाणी शब्द-कीर्तन गायन से संगत को निहाल करेंगी।

Sirjanhari

साकची गुरुद्वारा के प्रधान सरदार निशान सिंह और महासचिव परमजीत सिंह काले ने आमंत्रण देते हुए संगत से विनती की है कि “सिरजनहारी” कीर्तन दरबार में वे हाजरी भर कर गुरु घर की खुशियां और प्रसाद अवश्य प्राप्त करें। कीर्तन दरबार में सुबह और शाम दोनों वक़्त गुरु का अटूट लंगर बरताया जाएगा।

Sirjanhari

आयोजनकर्ता गुरदीप सिंह सलूजा और सतीश मुथरेजा ने बताया के साकची गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के आपार सहयोग से “सिरजनहारी” का आयोजन किया जा रहा है। उनका कहना है कि गुरुघर में महिलाओं की धार्मिक भागेदारी सुनिश्चित करने तथा उनके धार्मिक ज्ञान और समझ को संगत तक पहुँचाना ही उनका मुख्य उद्देश्य है।
कीर्तन दरबार रविवार को सुबह सवा नौ बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक जबकि शाम को छह बजे से रात 9:45 बजे तक चलेगा।

ਇਹ ਖਬਰ ਤੁਸੀਂ ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸੀਤਾਰਾਮਡੇਰਾ,ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸਾਕਚੀ, ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸੋਨਾਰੀ, ਦੁਪਟਾ ਸਾਗਰ ਬਿਸਟੁਪੁਰ ਨਾਗੀ ਮੋਬਾਈਲ ਕਮਯੁਨੀਕੇਸੰਸ ਦੇ ਸਹਾਇਤਾ ਨਾਲ ਪਾ੍ਪਤ ਕਰ ਰਹੇ ਹੋ ਜੀ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *