May 30, 2024

sahidi parv-शहीदी पर्व को लेकर सुखमनी साहिब के पाठ आरंभ।know more about it.

1 min read
Spread the love

sahidi parv

daily dose news

जमशेदपुर के शहीद बाबा दीप सिंह जी गुरुद्वारा सीतारामडेरा में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी स्थानीय स्त्री सत्संग सभा द्वारा श्री सुखमनी साहिब के लड़ीवार पाठ कल से यानी 29/04/2024 दिन सोमवार से आरम्भ किये गए।

ये समाचार आप गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी साक्ची, गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी सीतारामडेरा,गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी सोनारी, दुपट्टा सागर बिस्टुपुर, नागी मोबाइल कम्यूनिकेशन्स के सहायता से प्राप्त कर रहे हैं।

पाठ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के देखरेख में स्त्री सत्संग सभा की महिलाओं द्वारा गुरुद्वारा साहिब के दिवान हाल में ठीक 9:30 बजे से आरम्भ होकर 11:30 बजे पूरी मर्यादा अनुसार समापन किया जाता है। उसके उपरांत विश्व शांति और सरबत के भले के लिए के गुरु महाराज जी से अरदास की जाती है। और उसके पश्चात संगत में चाय नाश्ता और छबील का वितरण किया जाता है।
श्री सुखमनी साहिब के पाठ की सेवा निरंतर 40 दिन चलेगी।
गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महासचिव सरदार अविनाश सिंह खालसा ने डेली डोज़ न्यूज़ के माध्यम से संगत से अपील करते हुए कहा कि श्री सुखमनी साहिब के लड़ीवार पाठ में शामिल होकर अपना जीवन सफल करें।

ਇਹ ਖਬਰ ਤੁਸੀਂ ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸੀਤਾਰਾਮਡੇਰਾ,ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸਾਕਚੀ, ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸੋਨਾਰੀ, ਦੁਪਟਾ ਸਾਗਰ ਬਿਸਟੁਪੁਰ ਨਾਗੀ ਮੋਬਾਈਲ ਕਮਯੁਨੀਕੇਸੰਸ ਦੇ ਸਹਾਇਤਾ ਨਾਲ ਪਾ੍ਪਤ ਕਰ ਰਹੇ ਹੋ ਜੀ।

About Sri Guru Arjun Dev Ji

 गुरु अर्जुन देव जी सिखों के पांचवें गुरु तथा सिख धर्म के पहले शहीद हुए हैं। इन्हें शहीदों का सरताज कहा जाता है। इनकी शहीदी के बाद इनके सुपुत्र गुरु हरगोबिंद साहिब जी ने शांति के साथ-साथ सैनिक बनने का भी उपदेश दिया। श्री गुरु अर्जुन देव जी का प्रकाश श्री गुरु रामदास जी के गृह में माता भानी जी की कोख से वैशाख वदी 7 सम्वत, 1620 को गोइंदवाल साहिब में हुआ। इनका पालन-पोषण गुरु अमरदास जी जैसे गुरु तथा बाबा बुड्ढा जी जैसे महापुुरुषों की देखरेख में हुआ। ये बचपन से ही बहुत शांत स्वभाव व पूजा भक्ति करने वाले थे। गुरु रामदास जी के तीन सुपुत्र बाबा महादेव जी, बाबा पृथी चंद जी तथा अर्जुन देव जी थे जिनमें से गुरु रामदास जी ने हर तरह की जांच-पड़ताल करने के बाद अर्जुुन देव जी को गुरुगद्दी सौंपी। 

sahidi parv

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *