kisan andolan-मृतक किसान शुभकरन की रौंगटे खड़े कर देने वाली सच्चाई।know more about it.

1 min read
Spread the love

kisan andolan

daily dose news

मौत के बाद सामने आया कर्जमाफी के लिए किसान का संघर्ष

  • किसान आंदोलन में शामिल 22 वर्षीय शुभकरन सिंह की मौत,पंजाब के बठिंडा का रहने वाला था किसान शुभकरन सिंह,शुभकरन सिंह के परिवार पर था लाखों रुपये का कर्ज

पंजाब में एक छोटे किसान की उचित आय के लिए संघर्ष को एक दुखद मौत ने उजागर किया है। 22 वर्षीय शुभकरन सिंह ने कर्ज माफी के लिए संघर्ष किया, लेकिन दुर्भाग्य से इसे मंजूर किए जाने से पहले ही उसका निधन हो गया। उसके परिवार को अपना गुजारा चलाने के लिए अपनी जमीन का एक हिस्सा बेचना पड़ा था। परिवार पर अभी भी 10 लाख रुपये का कर्ज है। शुभकरन की मृत्यु ने परिवार के बेहतर भविष्य की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। शुभकरन की मां की पहले ही मौत हो चुकी है और उनके पिता एक स्कूल वैन चलाकर अपना गुजारा कर रहे थे। अपने कर्ज माफ होने की संभावना से प्रेरित होकर शुभकरन किसानों के विरोध में शामिल हो गए। सुत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार,वह बीकेयू समूह के सदस्य थे, जो दिल्ली जा रहा था, तभी यह हादसा हो गया। शुभकरन के चाचा बूटा सिंह को इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना की सूचना देने वाला फोन आया। दुखी परिवार अब शुभकरन की छोटी बहन के लिए मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग कर रहा है।

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि पोस्टमार्टम के बाद एक पुलिस मामला दर्ज किया जाएगा ताकि पूरी जांच शुरू की जा सके और यह सुनिश्चित किया जा सके कि जिम्मेदार लोगों पर उचित कार्रवाई हो। इसके अतिरिक्त मान ने केंद्र सरकार से किसानों के नेताओं के साथ फिर से बातचीत शुरू करने का आग्रह किया ताकि उनकी जायज मांगों पर विचार करके मौजूदा गतिरोध को हल किया जा सके।

मुख्यमंत्री भगवंत मान बोले करवाई जाएगी जांच
अपनी माँ को खो चुके 22 वर्षीय किसान अपनी शिकायतों को व्यक्त करने के लिए दिल्ली जा रहे थे। मान ने हरियाणा में किसानों की प्रगति को रोकने के फैसले पर सवाल उठाया, इस बात पर जोर देते हुए कि पड़ोसी राज्य के साथ कोई विवाद नहीं था। उन्होंने सुझाव दिया कि केंद्र दिल्ली में शांतिपूर्ण विरोध और उनकी मांगों पर चर्चा के लिए स्टेडियम या रामलीला मैदान जैसा स्थान प्रदान कर सकता था।

https://t.me/dailydosenews247jamshedpur

मान ने घोषणा की कि पोस्टमार्टम के बाद एक पुलिस मामला दर्ज किया जाएगा। शुभकरन की मृत्यु के लिए जिम्मेदार लोगों को जवाबदेह ठहराने के लिए पूरी जांच की जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए मान ने केंद्र से किसानों की जायज मांगों को स्वीकार करके उनकी चिंताओं को तुरंत दूर करने का आह्वान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *