jamshedpur-प्रबंधक कमिटी ने संगत से किया वादा पूरा किया: निशान सिंह,know more about it.

1 min read
Spread the love

jamshedpur

गुरु ग्रन्थ साहिब के प्रकाशोत्सव के विशेष समागम के साथ नवीनीकृत साकची गुरुद्वारा संगत को होगा समर्पित

सोलर बिजली, केंद्रीकृत वातानुकुलन और अत्याधुनिक संगीत सयंत्र, आधुनिक तकनीक से लैस झारखण्ड का पहला गुरुद्वारा बना साकची

साकची गुरुद्वारा कोल्हान ही नहीं बल्कि पुरे झारखण्ड में सोलर बिजली से संचालित, केंद्रीकृत वातानुकुलन और अत्याधुनिक संगीत सयंत्र जैसे आधुनिक तकनीक से लैस राज्य का पहला धार्मिक स्थल गुरुद्वारा बन गया है।
16 सितम्बर को गुरु ग्रन्थ साहिब के प्रकाशोत्सव के विशेष समागम के साथ नवीनीकृत साकची गुरुद्वारा संगत की सेवा में समर्पित किया जायेगा। सोमवार को प्रेस वार्ता के दौरान साकची गुरुद्वारा के प्रधान सरदार निशान सिंह ने घोषणा करते हुए बताया कि साकची की सिख संगत को नवीनीकृत वातानुकुलित साकची गुरुद्वारा गुरु प्यारी संगत को समर्पित करेंगे।

jamshedpur

निशान सिंह ने कहा कि यह बड़ा शुभ संयोग है कि श्री गुरु ग्रन्थ साहिब के प्रकाशोत्सव पर विशेष समागम के शुभ अवसर पर सुसज्जित गुरुद्वारा साहिब संगत को समर्पित किया जा रहा है। महासचिव परमजीत सिंह काले ने बताया कि प्रकाशोत्सव का शुभारंभ 13 सितम्बर को एक शोभायात्रा निकाले जाने से होगा जिसे सिख स्त्री सत्संग सभा और सुखमनी जत्था की बीबीयां संचालित करेंगी उपरांत अखंड पाठ की आरम्भता की जायेगी जिसकी समाप्ति 15 सितम्बर को होगी।

प्रेस वार्ता में सतनाम सिंह घुम्मन ने बताया कि 15 और 16 सितम्बर को दो-दिवसीय विशेष कीर्तन समागम का आयोजन किया जायेगा जहां दोपहर में दोनों दिन गुरु का अटूट लंगर बरताया जायेगा। जसबीर सिंह गाँधी और सतनाम सिंह सिद्धू के अनुसार दरबार साहिब, अमृतसर के कीर्तनीये हजूरी रागी जत्था भाई साहब भाई संदीप सिंह और भाई साहब भाई दिलजीत सिंह भोपालवाले अपने रसभरे कीर्तन से संगत को निहाल करेंगे जबकि भाई साहब भाई भूपिंदर सिंह जोगी ढाढ़ी जत्था मोहाली संगत को धार्मिक बयार में मंत्रमुग्ध करेंगे।

इनके अलावा साकची गुरुद्वारा के ग्रंथी ज्ञानी अमृतपाल सिंह मनन और सरदार करतार सिंह भी गुरु ग्रन्थ साहिब की महिमा का बखान संगत के बीच करेंगे।

इस घोषणा से पूर्व सरदार निशान सिंह ने साकची गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी (एसजीपीसी) के सदस्यों और पदाधिकरियों के साथ बैठक कर होने जाने वाली तैयारियों का जायजा लिया। सरदार निशान सिंह ने तैयारियों को लेकर सभी पदाधिकारियों को जरुरी निर्देश भी दिए। प्रेस वार्ता में प्रधान निशान सिंह के अलावा महासचिव परमजीत सिंह काले, जसबीर सिंह गाँधी, सतनाम सिंह घुम्मन, बलबीर सिंह, मनमोहन सिंह, सुरजीत सिंह छिते, मनोहर सिंह नौजवान सभा के मनप्रीत सिंह और प्रितपाल सिंह उपस्थित थे।


साकची गुरुद्वारा के नये भवन के बारे में विशेष तथ्य: साकची गुरुद्वारा के प्रधान निशान सिंह और महासचिव परमजीत सिंह काले ने बताया की नवीनीकृत साकची गुरुद्वारा साहिब में नया पालकी साहिब आकर्षण का केंद्र है। नया पालकी साहिब मकराना (राजस्थान) से लायी गयी उच्चकोटि के संगमरमर से बना है। साथ ही साथ पूरा गुरुद्वारा साहिब केंद्रीकृत वातानुकूलित होगा और इसमें अत्याधुनिक संगीत सयंत्र स्थापित किया जा रहा ताकि संगत गुरबाणी-कीर्तन के एक-एक शब्द को स्पष्ट रूप से सुन कर कीर्तन का आनंद ले सके। दोनों ओहदेदारों ने बताया कि साकची गुरुद्वारा में सोलर बिजली प्रणाली की भी स्थापना की गयी जो अपने आप में एक उपलब्धि है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *