farmers movement-किसान आंदोलन से जुड़ी अब तक की मुख्य बातें।know more about it.

1 min read
Spread the love

farmers movement

daily dose news

ਇਹ ਖਬਰ ਤੁਸੀਂ ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸਾਕਚੀ, ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸੋਨਾਰੀ, ਦੁਪਟਾ ਸਾਗਰ ਬਿਸਟੁਪੁਰ ਨਾਗੀ ਮੋਬਾਈਲ ਕਮਯੁਨੀਕੇਸੰਸ ਦੇ ਸਹਾਇਤਾ ਨਾਲ ਪਾ੍ਪਤ ਕਰ ਰਹੇ ਹੋ ਜੀ।

farmers movement

पंजाब से दिल्ली तक किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। प्रदर्शनकारी किसानों पर पुलिस ने जींद और शंभू बार्डर पर गैस के गोले दागे हैं।

जानिए किसान आंदोलन से जुड़ी 10 अहम बातें।
1- किसान नेता जगजीत सिंह दलेवाल के अनुसार सरकार के द्वारा दिए गए प्रस्ताव कोई नये नहीं है। उन्होंने कहा कि हम अपनी मांग पर विस्तार से चर्चा चाहते हैं। साथ ही इसबार कोई भी हिंसा नहीं चाहते। सरकार हमसे सीधा बात करे। इससे हमारा और सरकार का समय बचेगा।

2- किसानों के आंदोलन को देखते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि हम सभी मुद्दों पर गौर करते हुए समाधान खोजने में लगे हैं। उन्होंने किसान आंदोलन को लेकर एक प्रेसवार्ता में कहा कि कुछ मुद्दों पर सहमति बन गयी है। लेकिन कुछ मुद्दों पर अभी चर्चा बाकी है। जल्द ही समाधान खोज लिया जाएगा।

farmers movement

3- पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पिछले किसान आंदोलन में मध्यस्थता की थी। लेकिन कल के बैठक में वो शामिल नहीं हुए।
4- दिल्ली के सीमा पर गाजीपुर, टिकरी, और सिंघू बार्डर पर फोर्स तैनात है। पुलिस ने इन सभी इलाकों मे धारा 144 लागू की है।
5- पंजाब पुलिस ने किसानों को राजपुरा बाईपास पार करने की इजाजत दे दिया है। हालांकि हरियाणा के शंभू बार्डर पर तनाव बढ़ गया।
6- पुलिस ने प्रदर्शकारियों को तितर- बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे।
7- किसान आंदोलन के कारण आम लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। उधर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने नोटिस जारी किया है। नोटिस पंजाब सरकार, हरियाणा सरकार, और दिल्ली सरकार और किसान संगठनों से है। हाईकोर्ट ने कहा कि जल्द से जल्द इस मुद्दे पर समाधान खोजने का प्रयत्न किया जाए।
8- पंजाब, हरियाणा के क ई जिलों मे इंटरनेट सेवा पर बैन लगा दिया गया है।
9- किसानों के उग्र आंदोलन के बीच राहुल गाँधी ने कहा कि कांग्रेस हरेक किसान को “कानूनी गारंटी” दे रही है। कि उन्हें स्वामीनाथन आयोग के तहत उनकी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलेगा।
10- किसान आंदोलन पूरे देश में फैल चुका है। मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश में प्रदर्शनकारियों पर वाटर कैन से पानी की बौछार की गयी और लाठीचार्ज किया गया।

farmers movement

इधर झारखंड के जमशेदपुर मे भी किसान आंदोलन एकजुटता मंच ने भी किसान आंदोलन के समर्थन मे विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। किसान आंदोलन एकजुटता मंच द्वारा सोशल मीडिया पर एक संदेश जारी किया गया जिसमें कहा गया कि आंदोलन स्थगित करते समय मोदी सरकार ने किसानों से जो वायदा किया था उसमे से एक भी पूरा नहीं किया है। इसलिए मजबूरन किसानों को फिर से आंदोलन की राह में उतरना पड़ा है। परंतु कल शांतिपूर्ण तरीके से दिल्ली जा रहे है किसानों पर जिस तरह से जुल्म किया गया इसका विरोध होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *