CGPC News- सीजीपीसी का सेंट्रल दीवान- पुरस्कृत किये जायेंगे उत्कृष्ट सेवा करने वाले जत्थे,know more about it.

1 min read
Spread the love

CGPC News

Daily Dose News

होनहार सिख युवती रविंदर कौर का होगा सम्मान, आँख जांच शिविर भी लगेगा

पहली पातशाही श्री गुरु नानक देव जी के 554वें प्रकाशोत्सव को समर्पित सेंट्रल दीवान का आयोजन कल 30 नवंबर को किया जायेगा जिसमे नगर कीर्तन में उत्कृष्ट सेवा करने वाले जत्थों, स्कूलों तथा अन्य संस्थाओं को पुरस्कृत किया जायेगा। सेंट्रल दीवान सीजीपीसी के तत्वाधान में साकची गुरुद्वारा साहिब में गुरुवार को आयोजित होगा


सेंट्रल दीवान के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए सेंट्रल गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी (सीजीपीसी) के प्रधान भगवान सिंह ने बताया पिछले दिनों शिक्षा के क्षेत्र में अतिश्रेष्ठ प्रदर्शन पर लाखों का सालाना पैकेज हासिल कर सिख कौम का नाम रौशन करने वाली शहर की बेटी रविंदर कौर को उनकी उपलब्धि के लिए उन्हें सम्मानित किया जायेगा। भगवान सिंह ने कहा की रविंदर कौर का सम्मान होने से पूरी सिख कौम गौरवान्वित होगी साथ ही साथ और बच्चे भी प्रेरित होंगे।

सीजीपीसी के दोनों महासचिव अमरजीत सिंह और गुरचरण सिंह बिल्ला ने बताया प्रकाशोत्सव पर नगर कीर्तन में अतुल्य सेवा करने वाले जत्थे, स्कूल और अन्य संस्थाओं के अलावा समाज के कई गणमान्य लोगों को भी सम्मानित कर उनका मान बढ़ाया जायेगा। चेयरमैन सरदार शैलेंद्र सिंह ने आह्वान किया कि नगर कीर्तन को ऐतिहासिक बनाने के बाद अब सिख संगत बड़ी संख्या में हाजरी भर सेंट्रल दीवान को सफलतम बनायें। उन्होंने जमशेदपुर सभी सिखों को सेंट्रल दीवान में शिरकत करने का निवेदन किया।


महासचिव अमरजीत सिंह ने बिष्टुपुर गुरुद्वारा साहिब जी टाउन के सभी कमिटी सदस्यों का सहृदय आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इन्ही की बदौलत नगर कीर्तन की रवानगी इतनी भव्य संभव हो पायी और वे इस एतिहासिक पल के भागीदार बने।
अमरजीत सिंह ने यह भी बताया कि गुरु नानक देव जी के जन्म दिहाड़े को समर्पित आँख जांच शिविर भी साकची गुरुद्वारा के अधीन गोविन्द भवन में पूर्णिमा नेत्रालय के सहयोग से लगाया जायेगा।

Read This Also

सम्मान समारोह और पुरस्कार वितरण कार्यक्रम से पूर्व अरदास उपरांत सुबह 10 बजे सेंट्रल दीवान सजेगा। हजूरी रागी संदीप सिंह साकची वाले सुबह दस बजे से दस पैंतालीस तक व दस पैंतालीस से साढ़े गयारह बजे तक सरदार कवलंजीत सिंह नूर गुरवाणी-कीर्तन कर संगत को गुरु चरणों से जोड़ेंगे जबकि सरदार सुरजीत सिंह साढ़े ग्यारह से सवा बारह बजे तक संगत को गुरु ग्रन्थ साहिब की बाणी से निहाल करेंगे। साढ़े बारह बजे से पुरस्कार वितरण कार्यक्रम चलेगा उपरांत श्रद्धालु पंगत में बैठ कर प्रसाद के रूप में गुरु का अटूट लंगर छकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *