Veer Bal Diwas-साकची गुरुद्वारा में वीर बाल दिवस पर कीर्तन दरबार का आयोजन,know more about it.

1 min read
Spread the love

Veer Bal Diwas

Daily Dose News

साकची गुरुद्वारा में वीर बाल दिवस पर कीर्तन दरबार का आयोजन, जमशेदपुर के सांसद विद्युत महतो, सेंट्रल गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान भगवान सिंह समेत समाज के हर वर्ग के लोगों ने लिया हिस्सा!

पीएम मोदी की पहल ने समाज को नये सिरे से किया जागृत : कुलवंत सिंह बंटी

जमशेदपुर के साकची गुरुद्वारा में मंगलवार को वीर बाल दिवस पर कीर्तन दरबार का आयोजन किया गया. कीर्तन दरबार में मुख्य रूप से जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो, सेंट्रल गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान भगवान सिंह, साकची गुरुद्वारा के प्रधान निशान सिंह, भाजपा जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव वीर बाल दिवस समारोह के आयोजन समिति के सह संयोजक और भाजपा वरिष्ठ नेता कुलवंत सिंह बंटी समेत अन्य शामिल रहे. प्रांगण में सबसे पहले स्त्री सत्संग सभा ने सुखमनी साहिब का पाठ किया. कथा वाचक भाई सुखविंदर सिंह एवं अमृत पाल सिंह ने चार साहेबजादो के इतिहास संगत को बताया उसके पश्चात कीर्तन दरबार भाई संदीप सिंह द्वारा किया गया.

अंत में अरदास के बाद लंगर का वितरण किया गया. इस दौरान जमशेदपुर सांसद विद्युत वरण महतो, सेंटर गुरुद्वारा के प्रधान भगवान सिंह, साकची गुरूद्वारा के प्रधान निशान सिंह और सह संयोजक कुलवंत सिंह बंटी ने अपनी बातें रखी. जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो ने कहा कि 2022 को प्रधानमंत्री द्वारा 9 जनवरी को गुरु गोविंद सिंह जी के प्रकाश उत्सव पर हर वर्ष 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस के रूप में मनाये जाने का ऐलान किया था. तब से उसी के तहत कार्यक्रम का आयोजन विभिन्न गुरुद्वारों में किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सिखों का बलिदानी को भुलाया नहीं जा सकता है.

छोटी सी उम्र में ही साहेबजादों को बाबा की उपाधि देना कोई साधारण बात नहीं है. मानवता की रक्षा के लिए गुरु गोविंद सिंह जी के परिवार ने कुर्बानी दी थी. वहीं सेंट्रल गुरुद्वारा के प्रधान ने कहा कि हम सिखों का इतिहास शुरू से स्वर्णिम रहा है और 21 से 27 दिसंबर के दिन में शुभ काम या खुशी मनाने का काम नहीं किया जाता है. हमारे गुरुओं ने जो शहादत दी है उससे ही आज सिखी और सनातन बचा है. इस तरह के कार्यक्रम के तहत हम अपने बच्चों को भी उनकी शिक्षा और इतिहास बताते है. साकची गुरुद्वारा के प्रधान निशांत सिंह ने कहा कि हम इस तरह के कार्यक्रमों के माध्यम से ही अपने बच्चों को अपने धर्म के इतिहास बताने की कोशिश करते है. उन्हों ने कहा कि आने वाले समय में इस तरह का आयोजन और बड़े पैमाने पर किया जायेगा. भाजपा नेता कुलवंत सिंह बंटी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिख समाज को तो साहेबजादों का इतिहास पता था इसके अलावा बाकी समाज को छुपा हुआ इतिहास बताने का काम किया है, इसे वीर बाल दिवस के रूप में मना कर यह सिख मिलती है कि धर्म परिवर्तन का दबाव डालने के बावजूद गुरु गोविंद सिंह जी के साहेबजादो ने शहादत को ही चुना.

साहेबजादे बाबा जुझार सिंह एवं बाबा फतेह सिंह जी को जब दीवार में चुनवाया गया उस समय उनकी उम्र सात और नौ वर्ष थी।लंगर के पश्चात कार्यक्रम को समाप्त किया गया. वहीं मंच संचालन सुरजीत सिंह छीते और धन्यवाद ज्ञापन सतवीर सिंह सोमू ने किया. कार्यक्रम में मुख्य रूप से जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो, भाजपा जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव, सेंट्रल गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान भगवान सिंह महासचिव अमरजीत सिंह सलाहकार गुरदीप सिंह पप्पू, साकची गुरुद्वारा के प्रधान निशान सिंह वरिय उपाध्यक्ष जोगिंदर सिंह जोगी, महासचिव परमजीत सिंह काले वीर बाल दिवस झारखंड प्रदेश सह संयोजक भाजपा नेता कुलवंत सिंह बंटी, जमशेदपुर संयोजक मंजित सिंह, सहसंयोजक नवजोत सिंह, रॉकी सिंह, सुखदेव सिंह, कुलवंत सिंह, चंचल भाटिया, जसवंत सिंह, संदीप शर्मा, हन्नू जैन, सुखविंदर सिंह साब्बी, बारीडीह प्रधान कुलविंदर सिंह, पिन्टू सैनी, बंटी वालिया, जयपाल सिंह खालसा, जुगन्नु, पवन अग्रवाल, संसद प्रतिनिधि चंद्रशेखर मिश्रा मिथलेश सिंह यादव खेमलाल चौधरी, प्रदेश कार्यसमिति के मिथिलेश सिंह, प्रदेश मंत्री रीता मिश्रा, अभय सिंह उजैन चंचल सिंह मंच संचालन सुरजीत सिंह छीते समेत अन्य शामिल रहे.

ये समाचार आप सोनारी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सौजन्य से प्राप्त कर रहे हैं।

This News Brought To You By Sonari Gurudwara Parbandhak Committee JSR

vEER Bal Diwas

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *