knowledge-रेलवे स्टेशन पर खोलें दुकान,कैसे मिलता है टेंडर, जानिए know more about it.

1 min read
Spread the love

knowledge

भारतीय रेलवे सबसे बड़ा एम्पलॉयर है जहां करीब14 लाख लोग नौकरी करते हैं. इस बड़ी आबादी को नौकरी देने के साथ-साथ रेलवे अन्य लोगों को भी रोजगार देता है. स्टेशनों पर फूड स्टॉल समेत ट्रेनों में पेंट्री कार के कॉन्ट्रैक्ट के जरिए रेलवे लोगों को बिजनेस करने का अवसर देता है.

Knowledge: देश में रोजाना ट्रेनों से करीब ढाई करोड़ से ज्यादा की आबादी सफर करती है. रेल में यात्रियों की यह भीड़ करीब 7325 स्टेशनों से गुजरती है. ऐसे में रेलवे प्लेटफॉर्म पर स्थित चाय-नाश्ते के स्टॉल पर यात्रियों की एक बड़ी संख्या पहुंचने से यहां दुकान लगाने वालों को तगड़ी कमाई होती है. इसके अलावा, ट्रेनों में भी पेंट्री कार के जरिए लोग अच्छी कमाई करते हैं.

knowledge

रेलवे प्लेटफॉर्म और ट्रेनों में खान-पान की चीजों की बिक्री से अच्छी आमदनी होने के कारण ही कई स्थानीय दुकानदार और नए युवा उद्यमी रेलवे के साथ बिजनेस करने के बारे में सोचते हैं. लेकिन, पर्याप्त जानकारी के अभाव में यह कर नहीं पाते हैं. आइये आपको बताते हैं आखिर आप कैसे ट्रेन और रेलवे स्टेशन पर फूड स्टॉल व पेंट्री कार का टेंडर लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं. इसमें कितना खर्च आता है या कितना किराया देना पड़ता है.

ट्रेनों में केटरिंग टेंडर और रेलवे स्टेशन पर फूड स्टॉल या यात्री जरुरतों के लिहाज से अन्य कोई जरूरी सामान की शॉप खोलना का एक प्रोसेस होता है. भारतीय रेलवे इसके लिए टेंडर जारी करता है जिसमें आवेदन करके दुकान लगाने का लाइसेंस हासिल किया जा सकता है.

रेलवे स्टेशन पर अलग-अलग स्टॉल की लागत दुकान के प्रकार पर निर्भर करती है. इसके लिए रेलवे शॉप की साइज और लोकेशन के हिसाब से आपसे एक फीस लेगा. आमतौर पर बुक स्टॉल, चाय-काफी स्टॉल और फूड स्टॉल खोलने के लिए अनुमानित लागत करीब 40 हजार से 3 लाख तक हो सकती है. हालांकि, यह शहर और वहां स्थित स्टेशन पर निर्भर करता है. क्योंकि ये दरें अलग-अलग हो सकती है. भारतीय रेलवे कई स्टेशन पर कई छोटे स्टॉल भी मुहैया कराता है जिसका किराया व लागत कम होती है.

भारतीय रेलवे में खान-पान से संबंधित सुविधाओं का संचालन IRCTC करती है. आईआरसीटीसी ही रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध खाद्य पदार्थों की कीमतें तय करता है. इससे जुड़े बिजनेस, मेन्यु, खाने की रेट आदि पर फैसला करता है. अब आईआरसीटी ही जनाहार केंद्र, फूड प्लाजा, फूड कोर्ट, फास्ट फूड यूनिट, ई-कैटरिंग आदि पर काम करता है. ऐसे में आप आईआरसीटीसी से ही यह जानकारी लेनी होती है.

रेलवे स्टेशन पर फूड या अन्य कोई स्टॉल खोलने के लिए दुकानदार के पास आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड आदि होना चाहिए. संबंधित रेलवे स्टेशन पर फूड स्टॉल की उपलब्धता के लिए IRCTC और इंडियन रेलवे की साइट पर टेंडर सेक्शन में जाकर जानकारी हासिल करें. टेंडर में किराया और अन्य तमाम शर्तों के बारे में जानकारी दी जाती है.

content credit to News18

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *