punjab-पंजाबी गायिका सुक्खी बराड़ ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथकी तारीफ की।SGPC से कह दी ये बात, know more about it.

1 min read
Spread the love

punjab

अयोध्या से पंजाब लौटी पंजाबी लोक गायिका सुक्खी बराड़ उत्तर प्रदेश की सरकार की ओर से उनको दिए गए सम्मान से गदगद हैं। वहीं उन्होंने SGPC से यह भी कहा कि अगर गुरुद्वारा बंगला साहिब व श्री हरिमंदिर साहिब में हिंदु-मुस्लिम सभी आ सकते हैं राम मंदिर में सिखों को जाने में क्या आपत्ति हो सकती है।

उन्होंने कहा कि उनको जितना सम्मान अयोध्या में मिला उतना तो कभी पंजाब में भी नहीं मिला। इसके साथ ही उन्होंने शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) से भी सवाल किया कि वह इतनी संकीर्ण क्यों है।

सुत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार गायिका सुक्खी बराड़ ने कहा कि अगर गुरुद्वारा बंगला साहिब व श्री हरिमंदिर साहिब में हिंदु-मुस्लिम सभी आ सकते हैं राम मंदिर में सिखों को जाने में क्या आपत्ति हो सकती है।

उन्होंने कहा कि हम सभी एक हैं, राजनेताओं ने वोटों के लिए हम सभी में राजनीतिक बंटवारा कर दिया है। सुक्खी बराड़ ने कहा कि दुनिया में सबसे बड़ा ग्रंथ श्री गुरु ग्रंथ साहिब ही है लेकिन एसजीपीसी उनको सिर्फ पैसे व राजनीति के लिए इस्तेमाल कर रही है।

पंजाब में नहीं दिया जा रहा महिलाओं को कीर्तन का हक’

गायिका ने कहा कि मुझे कितने साल हो गए देखते हुए अभी तक महिलाओं को कीर्तन करने का हक नहीं दिया जा रहा लेकिन अयोध्या में तो महिलाएं भी भजन गा रही थीं।

उन्होंने सवाल किया कि एसजीपीसी जगह-जगह स्कूल-कॉलेज और अस्पताल क्यों नहीं खोलती। अपनी भावनाएं व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि वह जब अयोध्या की तरफ बढ़ रही थीं तो उनको महसूस हो रहा था कि उनको कोई शक्ति अपनी ओर खींच रही है।

सुक्खी बराड़ ने शेयर किया अपना अनुभव

सुक्खी ने बताया कि जब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी की गाड़ी के पीछे-पीछे वह अपनी गाड़ी लेकर वहां पर पहुंची तो वहां पर मौजूद लोगों को बताया कि वह पंजाब से आई हैं तो वहां पर मौजूद लोगों ने वाहेगुरु जी का खालसा वाहेगुरु जी की फतेह के नारे लगाने शुरू कर दिए। मैं सोचती हूं कि अगर मैं वहां पर न जाती तो यह जिंदगी की एक बड़ी गलती होनी थी। मुझे वहां ऐसे महसूस हुआ जैसे मैं अपने मायके गई हुई हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *