May 26, 2024

jamshedpur-प्रधानगी नहीं, सेवा भावना वाले बनें गुरु घर के मुख्य सेवादार: जमशेदपुरीknow more about it.

1 min read
Spread the love

jamshedpur

daily dose news

हरविंदर जमशेदपुरी प्रधान चुनने की प्रक्रिया पर सरदार भगवान सिंह के सम्मुख रखेंगे अपने विचार

आये दिन गुरुद्वारों में प्रधानगी को लेकर उपज रहे विवादों पर चिंता जताते हुए जमशेदपुर के युवा सिख धर्म प्रचारक हरविंदर सिंह जमशेदपुरी ने कहा है कि गुरु घरों में प्रधानगी के लिए नहीं बल्कि सेवा भावना के लिए मुख्य सेवादार चुना जाना चाहिए।
शुक्रवार को अपने विचार व्यक्त करते हुए हरविंदर सिंह जमशेदपुरी ने कहा कि वे इस बाबत सीजीपीसी के मुख्य सेवादार सरदार भगवान सिंह से मिल उनके सम्मुख जल्द ही अपने विचार रखेंगे।

ये समाचार आप गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी साक्ची, गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी सीतारामडेरा,गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी सोनारी, दुपट्टा सागर बिस्टुपुर, नागी मोबाइल कम्यूनिकेशन्स के सहायता से प्राप्त कर रहे हैं।
जमशेदपुर के युवा सिख धर्म प्रचारक हरविंदर सिंह जमशेदपुरी ने पिछले कुछ दिनों से चले आ रहे गुरु घर में प्रधानगी पद के लिये आपसी मतभेद को लेकर गहरी चिंता वयक्त करते हुए कहा कि कोई भी सिख यदि गुरु घर में सेवा करना चाहता है तो उसके भीतर सेवादारी वाली भावना होनी बहुत ज़रूरी है।

jamshedpur

जमशेदपुरी ने तीखे विचार देते हुए कहा कि, एक समय वह भी था जब गुरु की एक स्वर में सिख गुरु के लिये अपना शीश तक दे देते थे परन्तु आज ऐसा समय आ गया है कि सिर्फ़ अपनी वाह-वाही के लिए अपने ही सिख भाईचारा छोड़ आपस में विवाद कर बैठते है, जो की बहुत शर्मनाक बात है।

ਇਹ ਖਬਰ ਤੁਸੀਂ ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸੀਤਾਰਾਮਡੇਰਾ,ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸਾਕਚੀ, ਗੁਰੂਦਵਾਰਾ ਪ੍ਬੰਧਕ ਕਮੇਟੀ ਸੋਨਾਰੀ, ਦੁਪਟਾ ਸਾਗਰ ਬਿਸਟੁਪੁਰ ਨਾਗੀ ਮੋਬਾਈਲ ਕਮਯੁਨੀਕੇਸੰਸ ਦੇ ਸਹਾਇਤਾ ਨਾਲ ਪਾ੍ਪਤ ਕਰ ਰਹੇ ਹੋ ਜੀ।
हरविंदर जमशेदपुरी ने सेंट्रल गुरद्वारा प्रबंधक कमेटी के मुख्य सेवादार सरदार भगवान सिंह विनती की है कि वो गुरु घर में सेवा व्यवस्था के लिए आचार संहिता बनाये और यदि आचार संहिता है तो उसमे संशोधन का प्रावधान लाने का प्रयास करें। जो व्यक्ति गुरु घर के देनदार हैं या अन्य किसी भी मामले में विवादित हैं, वेसे लोगों को गुरु घर की सेवा नहीं मिले तो सिख समाज के लिए बहुत बेहतर रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *