amritsar/tatanagar-चेतना मार्च से गुरूओं के त्याग और बलिदान की मिली प्रेरणा-मंजीत गिलknow more about it.

1 min read
Spread the love

amritsar/tatanagar

देर रात पंजाब से टाटानगर स्टेशन पहुंची टीम

amritsar/tatanagar/शिरोमणि शहीद बाबा जीवन सिंह जी का 362वें जन्म दिहाड़ा मनाने के बाद टाटानगर से 30 अगस्त को अमृतसर रवाना हुए श्रद्धालु कल वापस लौट आए.देर रात लगभग 2.00 बजे जालियांवाला बाग से टाटानगर स्टेशन पर उतरने वाली संगत का जोश देखते ही बन रहा था.आज सुबह 9.00 बजे अमृतसर पहुंचे हैं.आने-जाने में इस 4 दिवसीय लंबी रेलयात्रा में शामिल सभी संगत के लिए न सिर्फ विभिन्न स्टेशनों में लंगर भेजा गया बल्कि महासभा के पदाधिकारियों का कई स्थानों पर सम्मान भी किया गया.

अमृतसर स्टेशन‌ के बाहर बाबा जीवन सिंह भलाई ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने सभी श्रद्धालुओं का स्वागत करते हुए उन्हें जालियांवाला बाग एक्सप्रेस से मीठी धार्मिक यादों के साथ रवाना किया.सभी श्रद्धालुओं के टाटानगर आगमन के बाद पदाधिकारियों ने बोले सो निहाल के जयकारे के साथ स्टेशन परिसर में ही फोटो सेशन भी करवाया.


कार्यक्रम की जानकारी देते हुए महासभा के प्रदेश अध्यक्ष मंजीत गिल ने बताया कि चेतना मार्च से श्रद्धालुओं को बाबा जीवन सिंह भलाई ट्रस्ट के सहयोग से गुरूओं के त्याग और बलिदान की प्रेरणा मिलती है.उन्होने बताया कि संगत को विभिन्न गुरूद्वारों के दर्शन कराए गए जो सिख धर्म के समर्पण,त्याग और बलिदान को दर्शाता है.वे बोले हमें अपने बच्चों और परिजनों को ऐसी धार्मिक यात्राओं में प्रत्येक वर्ष भेजना चाहिए ताकि सिख धर्म का मानवीय पहलू सबको पता चले.

amritsar/tatanagar

श्री गिल ने कहा कि चेतना मार्च को सफल बनाने में सभी का सहयोग मिला है मुख्य रूप से साहब सिंह,अमृत सिंह,परमजीत सिंह,सोनी सिंह,मुख्तार सिंह,जोगिंदर सिंह जोगी,नवजोत सिंह,रणजीत कौर, परमजीत कौर,रिंकी कौर,बलविंदर कौर,सविंदर कौर,राजविंदर कौर, सोनी कौर,मोहित सिंह सहित दर्जनों सहयोगियों‌ ने अहम भूमिका निभाई है.

Daily Dose News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *